फरीदाबाद,
आईएमटी के लिए अधिग्रहित की गई पांच गांवों मच्छगर, मुजेड़ी, चंदावली, सोतई व नवादा के किसानों की जमीनों का बढ़ा मुआवजा न मिलने सहित अन्य मांगें पूरी न होने के संदर्भ में किसानों ने हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन एवं विधायक नयनपाल रावत से उनके चंदावली स्थित कार्यालय पर मुलाकात की और उनके समक्ष अपनी मांगों को रखा। किसानों ने विधायक नयनपाल रावत को बताया कि उनके कहे अनुसार उन्होंने अपना धरना प्रदर्शन भी समाप्त कर दिया, लेकिन अभी तक उनकी मांगों को सरकार ने पूरा नहीं किया है।
किसानों की सभी बातों को गंभीरतापूर्वक सुनने के बाद विधायक नयनपाल रावत ने कहा कि प्रदेश की मनोहर सरकार किसान, मजदूर, व्यापारी, कमेरे व गरीब हितैषी सरकार है और इस सरकार में किसी के साथ अन्याय नहीं किया जाएगा, खासकर जहां तक किसानों के हितों की बात रही है तो उन्होंने इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री से भी चर्चा की है और मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश पर आला अधिकारियों और किसानों के साथ जल्द एक बैठक की जाएगी और बैठक में किसानों की लंबित मांगों को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा और इसके बावजदू यदि इसमें कोई बाधा आएगी तो उसके विकल्प तलाशने के लिए भी चंडीगढ़ के आला अधिकारियों से चर्चा की जाएगी। इस मौके पर विधायक नयनपाल रावत ने कहा कि वे लोगों की वजह से आज सत्ता में हैं और उनकी मांगों को पूरा करवाने के लिए वे किसी भी हद तक जा सकते हैं,  5 गांव के किसानों ने उनके कहने पर धरना समाप्त किया था इसलिए इन किसानों की मांगों को पूरा करवाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे है। हाल ही में उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से भी इस बारे में चर्चा की और मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि किसानों की हरसंभव मांग को गंभीरता से लिया जाएगा। इस मौके पर किसान संघर्ष समिति के प्रधान रामनिवास नरवत, रचना शर्मा, जीतराम फोरमेन, भगत सिंह नागर, धर्मबीर मास्टर, नवीन कपासिया, महावीर मास्टर, राम सिंह, मेहताब, देवेंद्र ठाकुर, प्रीतपाल सहित पांचों गांवों के अनेकों पंच-सरपंच व मौजिज लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.