फरीदाबाद,

प्रगतिशील किसान मंच के अध्यक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेसी नेता सत्यवीर डागर ने केंद्र सरकार ने वापस लिए गए तीनों काले कृषि कानूनों को केंद्र सरकार द्वारा देरी से उठाया गया अधूरा कदम बताया है। प्रेस को जारी बयान में सत्यवीर डागर ने कहा कि सरकार द्वारा तीनों काले कृषि कानूनों को वापस लिया जाना इस देश के किसानों की जीत है, लेकिन केंद्र सरकार को यह भी याद रखना होगा कि इन तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ भारत के किसानों ने एमएसपी पर उनकी फसल की खरीद की मांग को लेकर शहादत दी है और इस देश का किसान अपने किसी साथी की शहादत को बेकार नहीं जाने देगा।
डागर ने सरकार से मांग की है कि इन तीनों काले कृषि कानूनों की वापसी के साथ-साथ सरकार को एमएसपी पर खरीद को लेकर कानून बनाना चाहिए और उन किसानों के परिजनों को आर्थिक सहायता भी उपलब्ध करानी चाहिए जिन्होंने इस आंदोलन के तहत अपना जीवन किसान हित पर न्यौछावर कर दिया। उन्होंने सरकार से मांग की है कि इस आंदोलन के दौरान जितने भी मामले देशभर में किसानों पर दर्ज किए गए हैं उनको सरकार बिना किसी जांच व देरी के तुरंत वापस लेने के आदेश भी जारी करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.