पलवल,
कृषि कानूनों के विरोध में कई महीनों से धरने पर बैठे किसानों ने सोमवार को रेल रोको आंदोलन के तहत पलवल में रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। आंदोलन को लेकर पलवल से होडल तक रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा की दृष्टि से भारी पुलिस बल तैनात रहा।
रेलवे ट्रैक पर जाम लगाते समय किसान नेता सरदार उपकार सिंह ने कहा कि सरकार किसान आंदोलन को साजिश के तहत खत्म करवाना चाहती है।  हरियाणा के सीएम मनोहर लाल द्वारा किसानों के खिलाफ दिए गए बयान पर भी कहा कि आखिरकार हरियाणा के सीएम को अपने दिए हुए बयान पर माफी मांगनी पड़ी। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि सरकार किसानों के आंदोलन को जबरन समाप्त करवाना चाहती है। महेंद्र सिंह चौहान ने कहा कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में देशभर का किसान पिछले लंबे समय से आंदोलन कर रहा है। किसान किसी पार्टी विशेष का सदस्य नहीं है। किसानों का मकसद सिर्फ तीनों काले कानूनों को रद्द करवाना है। सोमवार को किसानों ने संयुक्त किसान मोर्चा के आवाह्न पर लखीमपुर घटना के विरोध में और तीनों कृषि कानूनों के विरोध में पलवल के अटोहां में रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। किसानों द्वारा रेल रोको आंदोलन के दौरान पलवल स्टेशन पर दो गाडियों उत्कल एक्सप्रेस व कोटा एक्सप्रेस को रोका गया रुंधि रेलवे स्टेशन पर गोल्डन टेंपल एक्सप्रेस को रोका गया। जब किसानों ने रेलवे ट्रैक को खाली कर दिया उसके बाद ही सभी ट्रेनों को सुचारू तरीके से रवाना कर दिया गया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.