फरीदाबाद,

दशहरे पर इस बार भी लोगों को रावण परिवार के पुतलों का दहन और रंग-बिरंगी आतिशबाजी को देखने का मौका नहीं मिलेगा। कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर दशहरा उत्सव आयोजन कमेटी की ओर से सेक्टर 16 में लगने वाला दशहरा उत्सव नहीं मनाने का निर्णय लिया है। दशहरा पर निकाली जाने वाली झांकियों को भी इस बार नहीं निकाला जाएगा। यह दूसरा अवसर होगा जब शहर में दशहरा उत्सव का आयोजन नहीं होगा।

श्री महावीर दल दशहरा कमेटी लईया बिरादरी तथा पंजाबी समाज फरीदाबाद की ओर से सेक्टर-16 स्थित पंजाबी भवन में वासुदेव सलूजा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें इस वर्ष कोविड-19 को देखते हुए दशहरा नहीं मनाने का सर्वसम्मति से फैसला लिया गया।
बैठक में बताया गया कि अब कोरोना के मामले लगातार घटते जा रहे हैं लेकिन मेले आदि लगाने से इनके बढ़ने की आशंका पैदा हो सकती है इसलिए इस वर्ष भी दशहरा पर्व स्थगित किया जा रहा है ताकि आम जन को किसी भी प्रकार का नुकसान न हो।

सेवादार टोनी पहलवान ने बताया कि दशहरा उत्सव आयोजन को लेकर बैठक रखी गई, जिसमें यह निर्णय लिया गया कि कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए इस बार भी आयोजन नहीं किया जाएगा। इस अवसर पर लोकनाथ मिगलानी, राजू  मिगलानी, तिलक मिगलानी, ओमप्रकाश धींगड़ा, पप्पू नागपाल, सेवादार टोनी पहलवान, धर्म बरेजा, राजेश अरोड़ा, यश बब्बर, अश्वनी सेठी, तिलक अरोड़ा एवं अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.