चण्डीगढ़,

हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व हरियाणा कान्फैड़ के पूर्व चेयरमैन बजरंग गर्ग ने कहा कि किसान संगठनों के आवाहन पर आज हरियाणा की मंडियों में पूर्ण रूप से हड़ताल रही। प्रदेश की किसी भी मंडी में कोई अनाज की खरीद नहीं हुई। तीन कृषि कानून के विरोध में व्यापारियों ने मंडी में रोष प्रदर्शन किया। बजरंग गर्ग ने कहा कि केंद्र सरकार अड़ानी-अम्बानी जैसे बड़े-बड़े घरानों को लाभ पहुंचाने के लिए तीन कृषि कानून ले कर आई है अगर देश व प्रदेश में तीन कृषि कानून लागू हो जाते हैं तो देश का किसान, आढ़ती व मजदूर बर्बाद हो जाएगा। बड़ी-बड़ी कंपनियां किसान की जमीन ठेके पर लेकर तीन कृषि कानून के तहत किसान की ही जमीन पर बैंकों से करोड़ों रुपए का लोन ले लेगी। अगर कंपनियां जमीन पर लिया हुआ लोन अदा नहीं करेगी तो किसान की जमीन बैंक जब्त कर लेगी। किसान आंदोलन को 10 महीने से ज्यादा हो चुके हैं, किसान आंदोलन में लगभग 700 किसान अपनी जान की कुर्बानी दे चुके हैं। उन्होंने दावा किया कि तीन कृषि कानून से देश में व्यापार व उद्योगों में अरबों रुपए का नुकसान हो रहा है। बजरंग गर्ग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर से अपील की है कि वह किसान संगठनों से बातचीत करके तीन कृषि कानून की समस्या का हल करें ताकि देश व प्रदेश कि जो तरक्की के रास्ते बंद पड़े हैं उसे दोबारा खोले जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.