फरीदाबाद,सोशल मीडिया पर एक मैसेज इन दिनों खूब वायरल हो रहा है। नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव ने अपनी सोशल मीडिया आईडी पर लिखा है कि उनकी डुप्लीकेट आईडी बना ली गई है, ऐसे में यदि कोई पैसे मांगे तो बिल्कुल न दें। आम लोगों की फेसबुक आईडी की डुप्लीकेट आईडी बना ली गई, यह खबर तो आए दिन सुर्खियों में रहती थीं, लेकिन एक आईएएस अफसर की सोशल मीडिया आईडी की डुप्लीकेट बनाने वालों को फरीदाबाद साइबर एक्सपर्ट पकड़ पाएंगे या नहीं, यह एक बड़ा प्रश्न है।
अब अधिकारियों से यह पूछने का सवाल ही नहीं रह गया है कि यह मामला कब तक खुलेगा। जिले में अलग से साइबर थाना खुल चुका है, जहां लोग अपनी शिकायतों को लेकर जाते हैं। कितने मामले सुलझे, कितनों में कितनी रिकवरी हुई और कितनी रिकवरी बाकी है, यह यक्ष प्रश्न है। अब नगर निगम कमिश्नर यशपाल यादव की सोशल मीडिया आईडी की डुप्लीकेट तैयार कर ली गई हैं। वह पहले से अलर्ट थे तो उन्होंने समय पर अपनी आईडी से लोगों से अपील की कि उनकी डुप्लीकेट आईडी तैयार की गई है, यदि उसके जरिए कोई रुपये मांगता है तो न दें। सवाल यह खड़ा होता है कि फरीदाबाद साइबर सेल एक्सपर्ट इतने बड़ेे मामले में आरोपी को पकड़ने में कितनी तीव्रता दिखाते हैं। आम आदमी की बात तो अलग ही है, आईएएस अधिकारी के मामले में फरीदाबाद पुलिस की रफ्तार देखने योग्य होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.