फरीदाबाद,
हरियाणा तकनीकी एवं उच्चतर शिक्षा के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति का सही एवं प्रभावी क्रियान्वयन राज्य सरकार के फोकस का प्रमुख क्षेत्र है, जिसकी जिम्मेदारी राज्य के तकनीकी एवं उच्चतर शिक्षण संस्थानों पर है। आनंद मोहन शरण जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा आयोजित ‘युवा प्रेरणा दिवस’ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। विश्वविद्यालय द्वारा युवाओं के लिए आइडियाथाॅन चैलेंज प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने की। इस अवसर पर प्रधान सचिव ने विश्वविद्यालय द्वारा विकसित जे.सी. बोस टेक्नोलॉजी बिजनेस इन्क्यूबेशन सेंटर का उद्घाटन भी किया। इस इन्क्यूबेशन सेंटर की शुरूआत विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों, शिक्षकों और पूर्व छात्रों के उद्यमशीलता के प्रयासों को सहयोग देने के उद्देश्य से की गई है। इस अवसर पर प्रधान सचिव ने विश्वविद्यालय में डिजिटल स्टूडियो एवं इंडस्ट्री स्किल सेंटर सहित विभिन्न सुविधाओं का जायजा भी लिया। उन्होंने कहा कि युवाओं की अभिनव सोच को स्टार्ट-अप के रूप में प्रोत्साहन देने के लिए विश्वविद्यालय का एक अच्छा प्रयास है तथा बेहतरीन सुविधा है, जोकि आज प्रदेश के प्रत्येक विश्वविद्यालय की आवश्यकता भी है।
इससे पहले डीन प्लेसमेंट, एलुमनाई व कॉरपोरेट अफेयर प्रो. विक्रम सिंह ने अपने संबोधन में ‘युवा प्रेरणा दिवस’ कार्यक्रम की परिकल्पना एवं युवा आइडियाथॉन चैलेंज को लेकर जानकारी दी। उन्होंने बताया कि युवा आइडियाथॉन चैलेंज में लगभग 50 विद्यार्थियों ने प्रौद्योगिकी पर आधारित अपने स्टार्ट-अप आइडिया प्रस्तुत किये है, जिसमें श्रेष्ठ पांच आइडिया का चयन फाइनल राउंड के लिए किया गया है। प्रतियोगिता के अंतिम चरण में श्रेष्ठ तीन प्रतिभागियों का चयन किया जायेगा। आइडियाथॉन प्रतियोगिता के विजेताओं को प्रथम स्थान के लिए 10,000 रुपये, दूसरे स्थान के लिए 5000 रुपये तथा तीसरे स्थान के लिए 3000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.