फरीदाबाद,
किसान आंदोलन को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र सिंह के बयान के खिलाफ शनिवार को सेक्टर-12 स्थित कांग्रेस भवन के समक्ष बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। कांग्रेसियों ने उन्हें पूरे मामले से अवगत करवाते हुए शिष्टाचार के तौर पर पीने के पानी की बोतल, गुलाब के फूल, चाय, बिस्कुट, समोसे देते हुए अपनापन दिखाया, परंतु बीजेपी ने इनको नहीं लिया।
इसके उपरांत सभी कांग्रेसी नेता प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़ के सेक्टर-10 स्थित कांग्रेस भवन के बाहर एकत्रित हुए और उन्होंने बीजेपी नेताओं व कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए इस अभद्र व्यवहार को लेकर विरोध किया तथा इसकी कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में हर मनुष्य को अपनी बात रखने का हक है, लेकिन शिष्टाचार ऐसी चीज है, जिससे आपसी भाईचारा बढ़ता है।कांग्रेसियों ने कहा कि भाजपा हर मुद्दे पर फेल है। महंगाई, क्राईम, बेरोजगारी, बिजली-पानी, सडक़ आदि धरातल पर कुछ नहीं किया गया, केवल जुमलेबाजी व धरने आदि करके लोगों का ध्यान भटकाने का काम किया। उन्होंने कहा कि इस मामले को वह कांग्रेस के सभी शीर्ष नेताओं के समक्ष रखेंगे और उनका जो भी निर्णय होगा, उनके आदेशानुसार अगला कदम उठाएंगे।इस मौके पर मुख्य रूप से प्रदेश प्रवक्ता सुमित गौड़, प्रदेश महासचिव बलजीत कौशिक, प्रदेश प्रवक्ता योगेश कुमार ढींगड़ा, बल्लभगढ़ क्षेत्र के वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मनोज अग्रवाल, चेयरमैन डा. एस.एल. शर्मा, चेयरमैन ज्ञानचंद आहुजा, पूर्व जिलाध्यक्ष गुलशन बगगा, पूर्व वरिष्ठ उपमहापौर मुकेश शर्मा, प्रदेश सचिव राजन ओझा व सत्यवीर डागर, प्रदेश कॉर्डिनेटर गौरव ढींगड़ा, जिला कॉर्डिनेटर डा. सौरभ शर्मा, यूथ कांग्रेस के ब्लाक अध्यक्ष विनोद कौशिक, संगठन मंत्री ललित भड़ाना, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता नीरज गुप्ता,चेयरमैन अब्दुल गफ्फार कुरैशी, प्रदेश प्रवक्ता मोनू ढिल्लो, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष सोनू चौधरी व गजना कालीरमण तथा जिला प्रेसीडेंट महिला कांग्रेस सुनीता फागना, युवा कांग्रेसी नेता विकास फागना, युवा कांग्रेसी नेता डा. गौतम, प्रवक्ता अशोक रावल, कांग्रेसी नेता संजय सोलंकी, कांगे्रसी नेता बाबूलाल रवि, समाजसेवी अनीशपाल व राजेश आर्य आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.