फरीदाबादपुलिस कमिश्नर ओपी सिंह द्वारा मोस्टवांटेड के सफाए के लिए चलाये गये अभियान में कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर 17 की टीम ने 25 हजार के मोस्टवांटेड इनामी बदमाश अकरम खान उर्फ़ भल्ला और असलम उर्फ़
चीनी  को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है।
अकरम खान उर्फ़ भल्ला और असलम उर्फ़ चीनी दोनो नूह जिले के गाँव घासेड़ा के रहने वाले हैं। आरोपियों के खिलाफ थाना डबुआ में पशु क्रूरता अधिनियम, अवैध हथियार का प्रयोग व गोंरक्षा दले के कर्मियों की हत्या के प्रयास के तहत मुकदमा दर्ज है। दिनांक 8 दिसंबर 2018 को थाने में दर्ज मुकदमे के अनुसार थाना डबुआ के
क्षेत्र में आरोपी चीनी और भल्ला ने अपने 5 अन्य साथियों मुस्तकीम, शाहरुख, आबिद, बहरा और जब्बारी उर्फ जावेद के साथ मिलकर पाली एरिया से गायों को गाडी में भरकर ले जा रहे थे। गोरक्षक दल की टीम को इसकी खबर लग गई तो उन्होंने गाड़ी गाड़ी को रोकने की कोशिश की परंतु गौ तस्करों ने उनके ऊपर गाड़ी चढ़ाने की कोशिश की। जैसे  तैसे गौ रक्षकों ने अपनी जान बचाई और गौ तस्करों की गाड़ी का पीछा शुरू कर दिया। चलते चलते रास्ते में गौ तस्करों की गाड़ी पंचर हो गई और अपनी जान बचाने के लिए उन्होंने गौ रक्षकों के ऊपर फायर कर दिया परंतु गोली किसी को नहीं लगी। गौ रक्षकों से डर कर आरोपी गाड़ी को छोड़कर भाग गए जिसमें से तीन गायों को सकुशल गाड़ी में से निकालकर सूरजकुंड रोड पर स्थित गोपाल गौशाला में छोड़ दिया गया।
इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों मुस्तकीम तथा जब्बारी उर्फ जावेद को वर्ष 2020 में गिरफ्तार कर लिया था। बाकी आरोपी पुलिस से बचने के लिए दूसरे जिलों में फरारी काट रहे थे। दिनांक 15 अगस्त 2021 को क्राइम
ब्रांच सेक्टर 17 की टीम ने गुप्त सूत्रों की सूचना के आधार पर दोनों आरोपियों को बल्लभगढ़ बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस प्रवक्ता के अनुसार आरोपी मुस्तकीम, अकरम, शाहरुख और असलम चारों भाई हैं जिसमें से मुस्तकीम, अकरम और असलम को गिरफ्तार किया जा चुका है। मामले में गहनता से जांच के लिए आरोपियों को अदालत में पेश करके 2 दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है जिसमें आरोपियों के अन्य साथियों के बारे
में पूछताछ की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.