• अनकही : अनसुनी दास्तान – ट्रेन से दोनों पैर कटे युवक को अस्पताल पहुंचा पेश की मानवता की मिसाल

मेवला महाराजपुर फाटक के पास ट्रेन की चपेट में आने के चलते एक युवक के दोनों पैर कटने के बाद वहां मौजूद पीर की मजार पर रहने वाले बाबा और एक युवक ने उसको अस्पताल पहुंचा मानवता की मिसाल पेश की। यह खबर न तो अखबारों की सुर्खियां बनीं और न ही ऐसे नेक बंदों का नाम सामने आया। फरीदाबाद निवासी अफजल ने बताया कि कुछ दिन पूर्व रात को करीब साढ़े 9 बजे एक युवक ट्रेन की चपेट में आ गया, जिससे उसके दोनों पांव कट गए। मेवला महाराजपुर रेलवे लाइन के पास मौजूद पीर की मजार पर रहने वाले बाबा को जब यह पता चला तो उन्होंने उनको बताया। वह तुरंत कार लेकर वहां पहुंचे और उस युवक को कार में बैठा कर बीके अस्पताल ले गए। बीके अस्पताल में युवक का तुरंत उपचार किया गया, लेकिन गंभीर हालत देख उसको दिल्ली ट्रॉमा सेंटर रैफर कर दिया। डॉक्टर ने कहा कि इसके कटे हुए पैरों को लेकर आओ, संभव है कि पांव जोड़े जा सकें। यह पता चलने पर वापस रेलवे ट्रैक पर जाकर कटे हुए पांव वापस लाकर अस्पताल में दिए गए। अफजल ने बताया कि दिल्ली ट्रॉमा सेंटर में युवक की हालत क्या है, यह उनकी जानकारी में नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.