फरीदाबाद,
डीसी जितेंद्र यादव के दिशा निर्देशन में सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार वन विभाग द्वारा  जल शक्ति अभियान के तहत स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं पौघा रोपण करके लोगों में जागरूकता ला रहीे हैे। एडीसी सतबीर मान के मार्ग दर्शन में स्वयं सहायता समूहों की महिलाएं एचएसआरएलम के तहत वन विभाग के सहयोग से पौधे रोपण करके पर्यावरण को स्वच्छ रखने और जल बचाने के लिए जागरूक कर रही हैं।
एडीसी ने बताया की जल संरक्षण के तहत किसानों को फव्वारा सिचाई यंत्र, टपका सिंचाई विधी से खेतों में सिंचाई करने के लिए जागरूक किया जा रहा है ताकि जल का संरक्षण किया जा सके। उन्होंने बताया कि इसके अलावा किसानों को किसानों को अधिक पानी की खपत वाली फसल धान को छोड़कर मक्का, मूंग, सब्जी, प्याज, ग्वार व पशु चारे की खेती की  बुवाआई करने के लिए प्रोत्साहन किया जा रहा है। जिन किसानों ने धान छोड अन्य फसल बोईं या खेत को खाली छोड़ा है उन्हें 7 हजार रुपये प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशी दी जाएगी। इसी प्रकार बाजरा के स्थान पर मूंग, मूंगफली, अरहर की फसल लेने पर 4000/-रु0 प्रति एकड़ प्रोत्साहन राशी दी जाएगी।  जिला वन अधिकारी राजकुमार ने बताया कि इन पौधों में शीशम, जामुन, पहाड़ी पापड़ी, अर्जुन, अमरुद, नीम, बकैन,सिरस, गुल मोहर, पिलखन, कजेजिया, अमलतास,  कीकर, ईमली, पीपल, रोज, कट, सांगवान, बेरी, आलेस्टोनिया, बेल पत्थर, अशोक, जट्रोफा, कनेर, सोहजना, बांस इत्यादि के पौधे लगाए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.