पलवल।
तीनों कृषि कानूनों को निरस्त और एमएसपी गारंटी बिल पास करवाने की मांग को लेकर आयोजित किसान महापंचायत में कांग्रेस वरिष्ठ नेता और बड़खल विधानसभा क्षेत्र के पूर्व कांग्रेस प्रत्याशी विजय प्रताप ने पूरा समर्थन दिया और कहा कि किसानों के साथ पार्टी पूरी तरह से खड़ी है। आंदोलन को तेज गति देने के लिए किसानों ने दान के तौर पर 17 लाख 35 हजार रुपये दिए।
किसान रतन सिंह सौरोत और स्वामी श्रद्धानंद सरस्वती ने चार प्रस्ताव प्रस्तुत किए तो पंचायत में मौजूद लोगों ने हाथ उठाकर समर्थन किया। बीजेपी नेताओं, विधायकों, सांसदों और मंत्रियों को गांव में प्रवेश नहीं करने दिया जाए। शहर के अंदर भी मीटिंग करें तो किसान संघर्ष समिति उसका मौके पर जाकर विरोध करें। यूपी, पंजाब और उत्तराचंल में बीजेपी प्रत्याशियों को हराने के लिए किसान अभी से जनसंपर्क अभियान में जुट जाएं। हरियाणा से सटे यूपी के सभी जिलों में किसान जाएं और अपने परिचितों व रिश्तेदारों से बीजेपी के खिलाफ मतदान करने के लिए प्रेरित करें। किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज सभी मुकदमे वापस लिए जाएं और जिन किसान जेलों में बंद हैं उन्हें रिहा करवाया जाए। तपती गर्मी और उमस के बीच किसान महापंचायत करीब 3 घंटे तक चली। इस दौरान कांग्रेस वरिष्ठ नेता विजय प्रताप ने कहा कि किसानों की मांग जायज है और वह केंद्र सरकार को पूरी करनी चाहिए। जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक चौहान ने किसानों महापंचायत को एनआईटी से कांग्रेसी विधायक नीरज शर्मा, पूर्व मंत्री करण सिंह दलाल, पूर्व विधायक उदयभान, ललित नागर आदि ने भी संबोधित किया। पंचायत की अध्यक्षता 52 पालों के चौधरी अरूण जेलदार ने की। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.