फरीदाबाद,
डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन ऑफिसर ऋतु चौधरी ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर के चलते लगभग 4 महीने बाद शुक्रवार 16 जुलाई से स्कूल खुले। उन्होंने बताया कि स्कूलों को 4 भागों में बांटा गया है। प्रत्येक कक्षा को अलग कलर के रिबन कलर दिए जाएंगे। तापमान व अटेंडेंस अवसर एप पर दर्ज होगा। जो विद्यार्थी ऑनलाइन स्टडी करना चाहते हैं, उनके लिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहेगी। विद्यार्थियों को स्कूल आते समय अपने माता-पिता की लिखित अनुमति लेकर आनी होगी। स्कूल में विद्यार्थियों की उपस्थिति को लेकर कोई बाध्यता नहीं होगी तथा विद्यार्थियों पर कोई दबाव नहीं बनाया जाएगा।
डीईओ ने बताया कि विद्यार्थियों के लिए स्कूल का समय 9 से 12 बजे तक और शिक्षकों के लिए साढ़े 8 से साढ़े 12 बजे तक का समय रहेगा। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार स्कूल के सभी शिक्षकों व अन्य कर्मचारियों को टीकाकरण हो चुका होना जरूरी है। कक्षा में एक डेस्क पर एक ही विद्यार्थी को बैठाया जाएगा। स्कूलों में कोविड-19 संबंधी नियमों की पालना सुनिश्चित करवाने के लिए सेफ्टी कमेटी का गठन किया गया है। पहले चरण में 9 वीं से 12 वीं कक्षा के बच्चों के लिए ही स्कूल खोले जाएंगे तथा रोजाना 50 फीसदी विद्यार्थियों को ही स्कूल में बुलाया जाएगा। 50 फीसदी बच्चों को रोल नंबर के हिसाब से बुलाने का निर्णय लिया है। इसके तहत यदि एक कक्षा में 50 विद्यार्थी हैं तो उनमें 1 से 25 रोल नंबर के विद्यार्थी शुक्रवार को स्कूल आएंगे तथा 26 से 50 रोल नंबर तक के विद्यार्थी शनिवार को स्कूल में आएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.