उपमुख्यमंत्री की उपस्थिति में एक महिला आईएएस अफसर के साथ छेड़खानी होना ये जाहिर करती है कि प्रदेश में अपराधियों के मन में कानून का कोई भय नहीं है। यह आरोप हरियाणा के कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री करण दलाल ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही। हरियाणा सरकार ‘बेटी बचाओ’ का नारा देती है जबकि बेटी को सरेआम उपमुख्यमंत्री के सामने बेइज़्ज़त किया जा रहा है, जोकि बेहद ही शर्मनाक है। बेटी की रक्षा के लिए मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ने एक शब्द भी नहीं कहा।
पूर्व मंत्री करण दलाल ने आईएएस के साथ छेड़खानी के मुद्दे पर उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्री का इस्तीफा देने की मांग करते हुए कहा केवल गाड़ियों पर और दीवारों पर ‘बेटी बचाओ, बेटी पढाओ’ का नारा लिखवाने से बेटी की रक्षा नहीं होती। बेटी की रक्षा के लिए अच्छी नीयत और नीति होनी चाहिए। इसी प्रकार बेटी को पढ़ाने के लिए अच्छे स्कूल और कॉलेज खोलने पड़ते है। जबकि खट्टर सरकार स्कूलों को बंद कर रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश में महिला आयोग सहित पूरी सरकार चुप्पी साधे बैठी है, जोकि बेहद ही शर्मनाक है। उन्होंने आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी अरावली में पहाड़ गायब हो रहे है। भाजपा सरकार में सूरजकुंड रोड पर अरावली में अवैध रूप से फार्म हाउस बन रहे और ये सरकार की देख-रेख में खुले आम बन रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को कटघरे में खड़ा करते हुए आरोप लगाया कि वह केवल ईमानदारी का ढोंग रचते हैं, यदि ईमानदार होते तो अरावली में इस तरह से अवैध निर्माण की बाढ़ नहीं आती।

Leave a Reply

Your email address will not be published.